28.1 C
Ranchi
Friday, September 17, 2021
Tags Viswanathan Anand

Tag: Viswanathan Anand

उम्मीद है अब शतरंज खिलाड़ियों को भी मिलेंगे राष्ट्रीय पुरस्कार : आनंद

चेन्नै (एजेंसी)। पूर्व विश्व चैम्पियन विश्वनाथ आनंद ने कहा है कि शतरंज ओलिंपियाड में भारतीय टीम को स्वर्ण मिलने से अब...

Most Read

वादाखिलाफी से तंग आकर पुरनाटांड के विस्थापितों ने अपनी जमीन पर काम बंद कराया

फुसरो। सीसीएल बीएंडके प्रबंधन की वादाखिलाफी से आजिज होकर पुरनाटांड के विस्थापितों ने सोमवार को अपनी जमीन पर सीसीएल का काम बंद...

डीपीएस बोकारो के प्राचार्य ए एस गंगवार को ‘अंतर्राष्ट्रीय प्राचार्य सम्मान’

चित्र परिचय-ग्लोबल प्रिंसिपल अवॉर्ड के साथ डीपीएस बोकारो के प्राचार्य ए एस गंगवार।  बोकारो: दिल्ली पब्लिक स्कूल, बोकारो के...

केन्द्रीय शिक्षा राज्यमंत्री का बोकारो में जगह-जगह हुआ स्वागत

समावेशी विकास के लिए मोदी सरकार प्रतिबद्ध: अन्नपूर्णा देवी बोकारो ः केंद्रीय शिक्षा राज्यमंत्री, कोडरमा की सांसद व भाजपा की राष्ट्रीय...

वेदांता-ईएसएल ने अपने अस्तित्व के तीन सालों में किया शानदार प्रदर्शन

ईएसएल 2018 में अस्तित्व में आने के बाद से उत्पादन, सीएसआर और एचएसई गतिविधियों में लगातार विकास दर्ज कर रही है और स्टील उद्योग में अपने आप को मजबूती से स्थापित कर चुकी है। ईएसएल ने वित्तीय वर्ष 18-19 में स्टील के उत्पादन में 17 फीसदी बढ़ोतरी दर्ज की, महामारी के बावजूद वित्तीय वर्ष 20 में ईएसएल का सालाना स्टील उत्पादन 1.23 मिलियन टन रह। समाज कल्याण प्रयासों के साथ ईएसएल 1 लाख से अधिक लोगों के जीवन पर सकारात्मक प्रभाव उत्पन्न कर चुकी है 300 एकड़ से अधिक ज़मीन में 1,00,000 पौधे लगाकर ग्रीनबेल्ट का विकास किया। बोकारो, 10 अगस्त, 2021: वेदांता ग्रुप की कंपनी और प्रमुख राष्ट्रीय स्टील प्लेयर ईएसएल स्टील लिमिटेड जो 31 मार्च 2018 को अस्तित्व में आई, उत्पादन बढ़ाकर, सर्वोच्च गुणवत्ता के मानकों को बरक़रार रख तथा अपनी उत्पादन प्रक्रियायों में  आधुनिक तकनीकां के उपयोग द्वारा स्टील उद्योग में तेज़ी से बदलाव लाई है। कंपनी समुदाय एवं कर्मचारियों के स्वास्थ्य, सुरक्षा एवं पर्यावरण गतिविधियों को ध्यान में रखते हुए प्रभावी कॉर्पोरेट सामाजिक प्रक्रियाओं में सक्रिय है और राष्ट्र विकास में योगदान दे रही हैपिछले सालों के दौरान परफोर्मेन्स वित्तीय वर्ष 2018-19 के दौरान ईएसएल की स्टील उत्पादन...