23.1 C
Ranchi
Tuesday, September 14, 2021
Home झारखंड बोकारो ईएसएल ने अपने वाहनों को इलेक्ट्रिक वाहनों में बदल कर पर्यावरण संरक्षण...

ईएसएल ने अपने वाहनों को इलेक्ट्रिक वाहनों में बदल कर पर्यावरण संरक्षण के लिए प्रतिबद्धता की पुष्टि की

कारों को इलेक्ट्रिक वाहनों में बदलने की शुरूआत की, अगले चरण में बसों को बदला जाएगा

2025 तक सभी वाहनों को पूरी तरह इलेक्ट्रिक वाहनों में बदलने का लक्ष्य

पर्यावरण संरक्षण एवं स्थायित्व के लिए अपनी प्रतिबद्धता तथा सभी वाहनों को 2025 तक इलेक्ट्रिक वाहनों में बदलने के लक्ष्य के साथ वेदांता ग्रुप की कंपनी एवं नेशनल स्टील प्लेयर ईएसएल स्टील लिमिटेड ने ईएसएल राईड ग्रीन पहल के तहत बोकारो में अपने कर्मचारियों के आवागमन के लिए सभी वाहनों को इलेक्ट्रिक वाहनों में बदलना शुरू कर दिया है। कार्बन फुटप्रिन्ट, जीवाश्म ईंधन की खपत एवं ग्रीन हाउस गैसों के उत्सर्जन को कम करना इस अभियान का लक्ष्य है।

ईएसएल की इस पहल से कार्बन उत्सर्जन में सालाना 430 टन की कमी आएगी, क्योंकि पेट्रोल या डीज़ल पर चलने वाले पारम्परिक वाहनों की तुलना में इलेक्ट्रिक वाहन पर्यावरण के लिए अनुकूल होते हैं। इसके अलावा इन वाहनों से शोर भी कम होता है, जिससे शोर प्रदूषण का स्तर कम करने में भी मदद मिलेगी।

साथ ही इलेक्ट्रिक वाहन सुरक्षित भी होते हैं, क्योंकि इनमें किसी तरह के ज्वलनशील पदार्थ का इस्तेमाल नहीं होता। इन वाहनों को इस तरह से डिज़ाइन किया जाता है कि इनमें दुर्घटना या टक्कर की संभावना बहुत कम हो जाती है।

इस अवसर पर एन.एल. वट्टे, सीईओ, ईएसएल स्टील लिमिटेड ने कहा, ‘‘ईएसएल वेदांता ग्रुप का पहला कारोबार है जो अपने प्लांट परिसरों में कर्मचारियों के लिए इलेक्ट्रिक वाहनों की शुरूआत कर रहा है। मुझे खुशी है कि हम पूरी तरह से इलेक्ट्रिक वाहन अपनाने के लक्ष्य की ओर बढ़ रहे हैं, जो भारत का भविष्य हैं। अपनी कारों को इलेक्ट्रिक वाहनों में बदलकर हम भारत को स्थायी स्टील प्लेयर बनाने के लक्ष्य के करीब जा रहे हैं और हम जल्द से जल्द इस लक्ष्य को हासिल करने के लिए कड़ी मेहनत कर रहे हैं। अपनी इस पहल के साथ हम अन्य कॉर्पोरेट्स को भी प्रेरित करना चाहते हैं कि भारत को हरित एवं स्वच्छ बनाने के लिए स्थायित्व का मार्ग अपनाएं। मैं इस नेक काज के लिए हमसे जुड़े हर व्यक्ति को धन्यवाद देना चाहता हूं। आने वाले समय में हम झारखण्ड राज्य, भारत एवं धरती के प्रति अपनी ज़िम्मेदारी निभाने के प्रयास जारी रखेंगे।’’

भारत के स्थायी भविष्य के निर्माण के लिए कंपनी विभिन्न इलेक्ट्रिक एवं हाइब्रिड वाहन समाधानों पर काम कर रही है। इसी साल गणतन्त्र दिवस के मौके पर ईएसएल ने अपने ईएसएल राईड्स ग्रीन अभियान के तहत इलेक्ट्रिक व्हीकल सब्सक्रिप्शन प्लेटफॉर्म ईवीज़ के साथ साझेदारी में 40 ई-साइकलें और 10 ई-स्कूटर लॉन्च किए थे। वर्तमान में ईएसएल के कर्मचारियों द्वारा प्लांट परिसर में इलेक्ट्रिक वाहनों का उपयोग किया जा रहा है।

अगले चरण में, ईएसएल ने अपनी बसों को इलेक्ट्रिक वाहनों में बदलने की योजना बनाई है। कंपनी ने 2025 तक अपने सभी वाहनों को इलेक्ट्रिक वाहनों में बदलने का लक्ष्य तय किया है।

सबसे लोकप्रिय

मांसाहार मनुष्य का स्वाभाविक भोजन नहीं है !

!!भजन!!प्रिय मांस खाने वाले, तू तो नष्ट हो रहा है !यह दुर्लभ नर की देही , पशुवत बिता रहा है !!ऐ ऋषियों...

12वीं के बाद कर सकते हैं यह कोर्स

बारहवीं के परिणाम घोषित हो गये हैं। अब छात्रों की नजर भविष्य पर है। जो छात्र कला क्षेत्र के हैं उनके लिए...

श्री श्री सूर्यदेव सिंह स्मृति गुरुकुलम के छात्रों ने लहराया परचम।

धनबाद।सीबीएसई 12 का परिणाम सोमवार को घोषित हुआ। श्री श्री सूर्यदेव सिंह स्मृति गुरुकुलम, धनबाद के छात्रों ने अपना परचम लहराया। विद्यालय...

सीआरपीएफ ने मनाया स्थापना दिवस समारोह

बोकारो ः केन्द्रीय रिजर्व पुलिस बल (सीआरपीएफ) 26वीं वाहिनी, चास (बोकारो) के तत्वावधान में केन्द्रीय रिजर्व पुलिस बल का स्थापना दिवस समारोह मनाया गया।...

चीन के साथ तनाव के बीच भारत को हथियारों की बिक्री बढ़ाने की योजना बना रहा अमेरिका

वाशिंगटन (एजेंसी)। अमेरिका, भारत में हथियारों की बिक्री बढ़ाने की योजना बना रहा है। मीडिया रिपोर्ट के अनुसार इन हथियारों में सशस्त्र...

डीवीसी का 33000 वोल्ट का ओवरहेड तार टूटकर गिरने से धनरोपनी में लगे युवक की मौत

बोकारो थर्मल से सीसीएल कथारा रीजनल एवं कोनार डैम के लिए बगैर जाली के ही लगा था तार बोकारो...

हाल का