23.1 C
Ranchi
Tuesday, September 14, 2021
Home क्षेत्रीय झारखंड के 13.88 लाख से अधिक किसानों के लिए 286.15करोड़ रुपये जारी

झारखंड के 13.88 लाख से अधिक किसानों के लिए 286.15करोड़ रुपये जारी

रांची। प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने आज वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के माध्यम से प्रधानमंत्री किसान सम्मान निधि योजना (पीएम-किसान) के तहत 9,50,67,601 लाभार्थी किसानों को 2,06,67,75,66,000 रूपये के वित्तीय लाभ की 8वीं किस्त जारी की। इस योजना के तहत झारखंड के 13,88,264 किसानों को 286.15करोड़ रुपये का लाभ मिलेगा। इस कार्यक्रम के दौरान प्रधानमंत्री ने किसान लाभार्थियों से बातचीत भी की।इस अवसर पर केंद्रीय कृषि मंत्री भी उपस्थित थे।

प्रधानमंत्री ने प्रधानमंत्री किसान सम्मान निधि (पीएम-किसान) योजना के लाभार्थियों के साथ वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के माध्यम से बात की।  प्रधानमंत्री ने इस बात को रेखांकित किया कि सरकार खेती में नए समाधान और नए विकल्प प्रदान करने के लिए लगातार प्रयास कर रही है। जैविक खेती को बढ़ावा देना भी इनमें से एक प्रयास है। जैविक खेती से अधिक लाभ पहुंचता है और अब युवा किसानों द्वारा पूरे देश में इसे अपनाया जा रहा है।उन्होंने कहा कि अब गंगा के दोनों किनारों पर और इसके 5 किलोमीटर के दायरे में जैविक खेती की जा रही है, जिससे गंगा साफ रहे।

प्रधानमंत्री ने इस बात पर जोर दिया कि इस महामारी के दौरान किसान क्रेडिट कार्ड की समयसीमा बढ़ा दी गई है और किस्तों को अब 30 जून तक नवीनीकृत किया जा सकता है।उन्होंने कहा कि पिछले कुछ वर्षों में 2 करोड़ से अधिक किसान क्रेडिट कार्ड जारी किए गए हैं।

प्रधानमंत्री ने कहा कि सदी में एक बार आने वाली यह महामारी विश्व को चुनौती दे रही है, क्योंकि यह हमारे सामने एक अदृश्य दुश्मन है। उन्होंने कहा कि सरकार अपनी पूरी ताकत से कोविड-19 से लड़ रही है और यह सुनिश्चित कर रही है कि राष्ट्र के दर्द को कम करने के लिए प्रत्येक सरकारी विभाग दिन-रात काम कर रहे हैं।

सबसे लोकप्रिय

उमा शंकर सिंह ने धनबाद के 50वें उपायुक्त के रूप में किया पदभार ग्रहण

धनबद। आईएएस उमा शंकर सिंह ने आज संध्या धनबाद के 50वें उपायुक्त के रूप में पदभार ग्रहण किया। उन्होंने उपायुक्त के आवासीय...

12वीं के बाद कर सकते हैं यह कोर्स

बारहवीं के परिणाम घोषित हो गये हैं। अब छात्रों की नजर भविष्य पर है। जो छात्र कला क्षेत्र के हैं उनके लिए...

मांसाहार मनुष्य का स्वाभाविक भोजन नहीं है !

!!भजन!!प्रिय मांस खाने वाले, तू तो नष्ट हो रहा है !यह दुर्लभ नर की देही , पशुवत बिता रहा है !!ऐ ऋषियों...

श्री श्री सूर्यदेव सिंह स्मृति गुरुकुलम के छात्रों ने लहराया परचम।

धनबाद।सीबीएसई 12 का परिणाम सोमवार को घोषित हुआ। श्री श्री सूर्यदेव सिंह स्मृति गुरुकुलम, धनबाद के छात्रों ने अपना परचम लहराया। विद्यालय...

जीवन की समस्याआं का समाधान बताते हैं यंत्र

Yantra show solutions to problems of life हिन्दू धर्म के अनेक ग्रंथों में कई तरह के चक्रों और यंत्रों...

प्रतीकों की अभिव्यक्ति कोहबर कला

लोक में लोकाचार का महत्त्वपूर्ण स्थान होता है। लोकाचार किसी भी पर्व ,पूजा ,संस्कार को जीवंत व रोचक बनाते है। विशेषकर विवाह...

हाल का