11 C
Ranchi
Friday, January 15, 2021
Home झारखंड बोकारो नये निदेशक प्रभारी के आने से पुनः गुलजार होने लगा बोकारो

नये निदेशक प्रभारी के आने से पुनः गुलजार होने लगा बोकारो

बोकारो ः बोकारो स्टील प्लांट के नये निदेशक प्रभारी के पद पर अमरेन्दु प्रकाश के योगदान देने के साथ ही बोकारो में विकास की रोशनी अब धीरे-धीरे दिखने लगी है। हाल के वर्षों में जो शहर वीरान और खंडहर में तब्दील होता जा रहा था, नये निदेशक प्रभारी अमरेन्दु प्रकाश की कार्यशैली और निर्णय लेने की उनकी क्षमता से लोगों में फिर से इस शहर के गुलजार होने की उम्मीद बढ़ने लगी है। मालूम हो कि विगत लगभग 20 वर्षों के दौरान यह शहर अपने अतीत पर आंसू बहाने लगा था। सुन्दरता व स्वच्छता को लेकर जिस बोकारो का नाम पूरे देश में गौरव के साथ लिया जाता था, वहां श्मशान की खामोशी नजर आने लगी थी। स्थानीय स्तर पर कोई त्वरित निर्णय नहीं लिये जाने के कारण यहां विकास के सारे रास्ते बंद हो गये थे। लेकिन, श्री प्रकाश ने अपने आगमन के साथ ही इस गुलशन रूपी शहर को फिर से गुलजार करने लगे हैं। उन्होंने जहां संयंत्र के अधिकारियों के साथ-अलग-अलग बैठकें कर उन्हें गुणवत्तायुक्त उत्पाद के उत्पादन और प्लांट की बेहतरी के संदेश दिये हैं, वहीं शहर के आवासों तथा सड़कों सहित अन्य नागरिक सुविधाओं के रख-रखाव और उनके अनुरक्षण की दिशा में कदम बढ़ा दिये हैं। शहर की जर्जर हो चुकी सड़कों को सुसज्जित किया जा रहा है। साथ ही अन्य प्रकार की नागरिक सुविधाओं की बेहतरी के उपाय किये जा रहे हैं। बोकारो औद्योगिक क्षेत्र (बियाडा) के मरनासन्न या मृतप्राय उद्योंगों को फिर से जीवित करने के प्रयास किये जा रहे हैं।

- Advertisement -

प्रस्तुत की मानवता की मिसाल
निदेशक प्रभारी अमरेन्दु प्रकाश ने रविवार को मानवता की मिसाल प्रस्तुत कर लोगों का दिल जीत लिया। वाकया है नगर के सेक्टर-12 का, जहां एक साथ चार आवासों के की सीढ़ियां अचानक टूटकर गिर गयीं। सभी आवासों में रहने वाले लोग घरों में ऊपर ही फंसे रह गये। कई लोग इस दुर्घटना का शिकार होने से बच गये। जब इस घटना की सूचना निदेशक प्रभारी को मिली तो वे देर रात खुद वहां पहुंच गये। इससे पहले उनके निर्देश पर अधिशासी निदेशक (कार्मिक एवं प्रशासन) के साथ नगर प्रशासन विभाग के अधिकारियों की टीम वहां पहुंच चुकी थी। निदेशक प्रभारी ने अपने अधिकारियों को इस तरह के जर्जर आवासों को तत्काल चिन्हित कर लोगों के रहने की वैैकल्पिक व्यवस्था करने का निर्देश मौके पर ही दिया। जबकि, इससे पूर्व सेक्टर-12 में इस तरह की दर्जनों घटनाएं हो चुकी हैं, लेकिन नगर प्रशासन विभाग के अधिकारियों के कानों पर जूं तक नहीं रेंगी थी।

- Advertisment -

सबसे लोकप्रिय

इन नौकरियों के लिए ग्रेजूएशन होना जरुरी नहीं

आमतौर पर माना जाता है कि कोई भी अच्छी नौकरी पाने के लिए स्नातक की डिग्री जरूरी है। इसके बाद भी...

ॐ का उच्चारण करते समय रखें इन बातों का ध्यान

सनातन धर्म में पूजा पाठ शुरु करते समय ॐ का जाप किया जाता है। 'ॐ' तीन अक्षरों से मिलकर बना है -...

जेएमएम अध्यक्ष शिबू सोरेन को मेदांता अस्पताल में भर्ती कराया गया

रांची। झारखंड मुक्ति मोर्चा, जेएमएम अध्यक्ष सह पूर्व मुख्यमंत्री शिबू सोरेन को रांची के मेदांता अस्पताल में भर्ती कराया गया है। कोरोना-19...

खाद्य प्रसंस्करण क्षेत्र में बनायें कॅरियर

खाद्य प्रसंस्करण क्षेत्र (प्रोसेस्ड फूड) तैयार करने वाली मल्टीनेशनल कंपनियां बड़ी तादाद में भारत का रुख कर रही हैं। ऐसे में यह...

सुशांत की मौत के मामले में ईडी ने धनशोधन का मामला दर्ज किया

नई दिल्ली (एजेंसी)। प्रवर्तन निदेशालय ने बॉलीवुड अभिनेता सुशांत सिंह राजपूत की मौत के सिलसिले में धनशोधन का एक मामला दर्ज कर...

कोरोना संक्रमण का चेन तोड़ने के लिए विशेष जांच अभियान

राजधानी रांची में 20 जगहों पर विशेष जांच शिविर में उमड़ी भीड़ रांची। झारखंड में कोरोना संक्रमण के चेन...

हाल का