20 C
Ranchi
Wednesday, January 13, 2021
Home झारखंड बोकारो इस बार जलाशयों में छठ व्रत की इजाजत नहीं, प्रशासन ने जारी...

इस बार जलाशयों में छठ व्रत की इजाजत नहीं, प्रशासन ने जारी की गाइडलाइन

बोकारो ः दीपावली के बाद छठ की तैयारी पूरे जोर-शोर से की जा रही है। कोरोना काल में आस्था के इस महापर्व को लेकर जिला प्रशासन की ओर से विशेष तैयारियां की जा रही हैं। लेकिन, कोरोना महामारी के चलते इस बार न तो जलाशयों में छठ व्रत करने की इजाजत मिलेगी और न ही घाट पर किसी तरह की साज-सज्जा आदि के काम हो सकेंगे। इसके लिए झारखंड सरकार के मुख्य सचिव की ओर से जारी गाइडलाइन के तहत बोकारो डीसी ने भी कई दिशा-निर्देश सोमवार को जारी कर दिए। इसके मुताबिक अर्घ्य के दौरान तालाब में डुबकी नहीं लगाने का निर्देश दिया गया है। इतना ही नहीं, जिला प्रशासन को भी कहा गया है कि छठ घाट पर इस तरीके से बैरेकेडिंग की जाए कि छठ व्रती डुबकी न लगा सकें। 

- Advertisement -

नहाय-खाय के साथ महाव्रत कल से
इस साल 18 नवंबर से छठ पर्व की शुरुआत होने जा रही है। 18 नवंबर को नहाय खाय, 19 नवंबर को खरना, 20 नवंबर को अस्ताचलगामी सूर्य को अर्घ्य और 21 नवंबर को उदीयमान सूर्य को दूसरा अर्घ्‍य देने के साथ छठ पर्व संपन्न होगा। लेकिन कोरोना काल में छठ व्रतियों के लिए जो गाइडलाइन जारी की गई है, उसके मुताबिक अगर तालाब किनारे छठव्रती पूजा करने जाते हैं, तो अर्घ्य के दौरान उसमें डुबकी नहीं लगाने का आग्रह किया गया है। संक्रमण के प्रसार की संभावना को कम किए जाने को लेकर किसी भी सार्वजनिक तालाबों, नदी, झील, डैम, जलाशय एवं किसी भी अन्य जल निकाय के किनारे या उसके पास किसी भी प्रकार का कोई स्टाल नहीं लगाया जाएगा। इसके अलावा छठ पर्व के दौरान बुखार से ग्रस्त व्यक्ति, 60 साल से ऊपर के व्यक्ति, 10 साल से कम उम्र के बच्चे और अन्य गंभीर बीमारियों से ग्रस्त व्यक्तियों को छठ घाटों पर नहीं जाने की सलाह दी गई है। प्रत्येक व्यक्ति को मास्क का प्रयोग करने और दो गज की दूरी का अनिवार्य रूप से अनुपालन करने की सलाह दी गयी है। 

डीसी ने कहा, अनिवार्य है नियमों का अनुपालन
डीसी ने कहा कि जारी दिशा-निर्देशों का अनुपालन करना सभी के लिए अनिवार्य है। छठ पूजा के उद्देश्य से व्यक्तियों द्वारा छठ घाटों पर निर्धारण, बैरिकेडिंग,  विशेष प्रकाश व्यवस्था निषिद्ध है।सार्वजनिक स्थानों पर पटाखे फोड़ने की अनुमति भी नहीं दी गई है।कोई संगीत या कोई अन्य मनोरंजक अथवा सांस्कृतिक कार्यक्रम का आयोजन नहीं करना होगा। डीसी ने सभी चास और बेरमो के एसडीओ समेत सभी बीडीओ, सीओ को इन आदेशों का अनुपालन सुनिश्चित कराने को कहा है।

इधर, छठ पर बंदिशों के खिलाफ सड़क पर उतरने की चेतावनी
एक तरफ प्रशासन ने कोरोना महामारी के मद्देनजर छठ महाव्रत को लेकर कई दिशा-निर्देश जारी किए हैं, वहीं दूसरी तरफ सरकारी बंदिशों के खिलाफ आवाज भी मुखर होती दिख रही है। विभिन्न संगठनों के लोगों ने इसका विरोध शुरू कर दिया है। बजरंग दल के जिला संयोजक अजीत पांडेय ने कहा कि छठ आस्था एवं श्रद्धा का महापर्व है। सरकार को यह फैसला वापस लेना होगा, नहीं तो बजरंग दल एवं अन्य सभी हिंदू संगठन सड़कों पर उतरकर इसका विरोध प्रदर्शन किया जाएगा। अजीत ने कहा कि क्या चुनाव के दौरान जनसभाएं नहीं हुई और तो और सभा में ना तो सोशल डिस्टेंसिंग का पालन किया गया और न ही कोरोना वायरस का ख्याल रखा गया? धर्म पर प्रहार बर्दाश्त नहीं किया जाएगा। इधर, बोकारो विकास फोरम के अध्यक्ष अनिल कुमार सिंह ने मुख्यमंत्री को पत्र भेजकर सोशल डिस्टेंस के साथ पूजा-आयोजन की अनुमति देने की मांग की है। कहा कि हाल के दिनों में चुनावी सभाओं में भारी भीड़ उमड़ी रही, लेकिन आस्था और परंपरा पर रोक लगाना सही नहीं है। मैथिली कला मंच कालीपूजा ट्रस्ट के महामंत्री सुनील मोहन ठाकुर ने कहा कि झारखंड सरकार द्वारा आस्था का महापर्व छठ पर असहनीय है। झारखंड की सरकार एक तो ट्रेन तथा अंतरराज्य बस सेवा ठपकर जनता को परेशान कर रही है, वहीं दूसरी ओर लोक आस्था के पर्व पर रोक लगाकर लोक आस्था से खिलवाड़ कर रही है।

- Advertisment -

सबसे लोकप्रिय

बोकारो में कलयुगी बेटे ने की पिता की हत्या, मां को किया घायल

गश्ती के दौरान पुलिस ने किया गिरफ्तार बोकारो : बोकारो इस्पात नगर के हरला थाना क्षेत्र अन्तर्गत सेक्टर...

भारत में साढ़े दस लाख से ऊपर कोरोना संक्रमित मरीज, महाराष्ट्र में तीन लाख के पार

नई दिल्ली (एजेंसी)। शनिवार को देश में कोरोना संक्रमण के 34,518नए मामले सामने आने के साथ पीड़ितों की संख्या बढ़कर 10,74,975 हो...

गोदाम में पड़े 2,700 टन अमोनियम नाइट्रेट से बेरूत में भीषण ब्लास्ट, 78 से ज्यादा मरे, 4000 घायल

विस्फोट इतना जबरदस्त था कि 3.5 की तीव्रता के भूकंप से थर्रा उठी धरती पीएम मोदी ने जताया दुख,...

डायबिटीज हैं तो करायें रेटिनोपैथी की जांच

डायबिटीज मधुमेह से ग्रस्त लोगों में से तकरीबन आधे डायबिटीज जनित रेटिनोपैथी से भी पीड़ित होते हैं। इसलिए आंखों की देखभाल के...

(अयोध्या) राजन्मभूमि ट्रस्ट की बैठक 18 जुलाई को, मंदिर निर्माण के भूमि पूजन की तिथि होगी तय

अयोध्या (ईएमएस)। उत्तर प्रदेश के अयोध्या में रामजन्मभूमि तीर्थ क्षेत्र ट्रस्ट की बैठक 18 जुलाई को होगी। मंदिर निर्माण की रूपरेखा और...

राम मंदिर की पहली मंजिल के लिए पत्थर तराशने का काम पूरा

राम मंदिर निर्माण को लेकर सुप्रीम कोर्ट के फैसले से तस्वीर साफ हुई, तो तैयारियों ने भी जोर पकड़ लिया। मंदिर के...

हाल का