23 C
Ranchi
Wednesday, January 20, 2021
Home झारखंड अन्य झारखंड उच्च न्यायालय ने करीब 18 हजार शिक्षकों की नियुक्ति प्रक्रिया को...

झारखंड उच्च न्यायालय ने करीब 18 हजार शिक्षकों की नियुक्ति प्रक्रिया को रद्द किया

नियोजन नीति को चुनौती देने वाली याचिका पर बड़ा फैसला

रवि सिन्हा, रांची। झारखंड सरकार द्वारा बनाए और  लागू किए गए नियोजन नीति को चुनौती देने वाली याचिका पर झारखंड उच्च न्यायालय की पूर्ण पीठ ने सोमवार को महत्वपूर्ण फैसला सुनाते हुए करीब 18 हजार  शिक्षकों की नियुक्ति प्रक्रिया को रद्द कर दिया है।

- Advertisement -

उच्च न्यायालय ने कुछ दिन पूर्व ही इस मामले में अंतिम सुनवाई करते हुए फैसला सुरक्षित रख लिया था । सुनवाई के दौरान राज्य सरकार ने राज्य की नियोजन नीति को सही ठहराते हुए अदालत में कहा गया था कि कि झारखंड की कई परिस्थितियों को ध्यान में रखकर ही यह नीति बनाई गई है। प्रार्थी सोनी कुमारी व अन्य ने राज्य की स्थानीय नीति को लेकर झारखंड उच्च न्यायालय के समक्ष याचिका दायर कर नियोजन नीति को चुनौती दी गयी थी। पूर्ण पीठ में  न्यायमूर्ति हरीश चंद्र मिश्रा, न्यायमूर्ति एस०चंद्रशेखर और न्यायमूर्ति दीपक रोशन शामिल हैं।  

बताया गया है कि पूर्ण पीठ ने सुप्रीम कोर्ट के आदेश का हवाला देते हुए नियुक्ति प्रक्रिया को संविधान के अनुरूप नहीं मानते हुए खारिज कर दिया है। अदालत में सोनी कुमारी ने झारखंड सरकार की नियोजन नीति में 13 जिले को आरक्षित किए जाने को हाई कोर्ट में चुनौती दी थी।  पूर्व में एकल पीठ ने मामले को डबल बेंच में भेजा था और डबल बेंच ने मामले को पूर्ण पीठ में स्थानांतरित किया था।  पीठ ने सुनवाई कर अपना फैसला सुरक्षित रख लिया गया था। वर्ष 2016 में 18584 शिक्षक की नियुक्ति के लिए विज्ञापन निकाला गया था। उसी को चुनौती दी गई थी।  

अदालत में सोनी कुमारी की ओर से राज्य के अनुसूचित 13 जिलों के सभी पद स्थानीय लोगों के लिए आरक्षित करने के खिलाफ हाई कोर्ट में याचिका दाखिल की गई थी। पूर्व में सभी पक्षों को सुनने के बाद अदालत ने अपना फैसला सुरक्षित रखा था। सुनवाई के दौरान पूर्ण पीठ के सभी जज इस बात पर एकमत हुए कि विज्ञापन संख्या 21 के कुछ खंड को अनुसूचित जिले के लिए नए सिरे से विज्ञापन प्रकाशित करने का निर्देश दिया। राज्‍य के अनुसूचित जिलों में पहले से की गई नियुक्तियां भी रद्द कर दी गई हैं। इसके अलावा राज्‍यपाल के द्वारा जारी अधिसूचना को भी खारिज कर दिया गया। गैर अनुसूचित जिलों में नियुक्ति होती रहेगी।

- Advertisment -

सबसे लोकप्रिय

अमर सिंह का निधन, लंबे समय से थे बीमार

नई दिल्ली (एजेंसी)। लंबे समय से बीमारी से जूझ रहे समाजवादी पार्टी (एसपी) के पूर्व नेता अमर सिंह का निधन हो गया...

सात हजार किलोमीटर उड़कर भारत आए राफेल

नई दिल्ली (एजेंसी)। सात हजार किलोमीटर की यात्रा तय करके फ्रांस से भारत पहुंचे पांच राफेल विमानों ने अंबाला एयरबेस पर लैंडिंग...

रक्षाबंधन और अंतिम सावन सोमवार पर बन रहा शुभ योग

हिंदू पंचांग के अनुसार श्रावण मास के शुक्ल पक्ष की पूर्णिमा तिथि को रक्षाबंधन का त्योहार मनाया जाता है। इस बार रक्षाबंधन...

फ्रांस से रवाना हुए 5 राफेल विमान, कल पहुंचेंगे भारत, जाने राफेल की खासियत

नई दिल्ली (ईएमएस)। फ्रांसीसी लड़ाकू विमान राफेल जेट की प्रतीक्षा अब खत्म हुई। फ्रांस से सोमवार को 5 राफेल लड़ाकू विमानों का...

10वीं में बोकारो के बच्चों ने बजाया कामयाबी का डंका

99 फीसदी अंक लाकर हर्ष बना जिला टॉपर, अनूप दूसरे तो ऋषभ, रितिशा व सौम्या को तीसरा स्थान बोकारो...

बुकर पुरस्कार की सूची में भारतवंशी लेखिका अवनि दोशी का नाम

लंदन (एजेंसी)। भारत के लिए गौरव की बात है कि दुबई में रहने वाली भारतवंशी लेखिका अवनि दोशी समेत 13 लेखकों के...

हाल का