26.1 C
Ranchi
Thursday, July 29, 2021
Home स्वास्थ्य और फिटनेस घरेलू उपायों से गायब होंगे आंखों के काले घेरे

घरेलू उपायों से गायब होंगे आंखों के काले घेरे

आपकी आंखों के नीचे अगर डार्क सर्कल्स (काले घेरे) हैं, तो उन्हें अनदेखा ना करें, क्योंकि ये आपकी खूबसूरती को कम कर सकते हैं। हम आपको कुछ टिप्स बता रहे हैं, जिन्हें फॉलो कर के आप डार्क सर्कल्स से छुटकारा पा सकती हैं। डार्क सर्कल्स आजकल अधिकतर लोगों की समस्या है। इसकी एक अहम वजह तनाव है। काम के अधिक प्रेशर और तनाव के चलते लोग ठीक तरह से सो नहीं पाते हैं, जिस कारण लोगों की आंखों के नीचें काले घेरे पड़ जाते हैं।

डार्क सर्कल्स होने के कई दूसरे कारण भी हो सकते हैं। ये काले घेरे आपकी खूबसूरती में ग्रहण लगा देते हैं। इन काले घेरों यानी डार्क सर्कल्स को दूर करने के लिए आजकल बाजारों में कई ब्यूटी प्रोडक्ट्स मौजूद हैं लेकिन हम आपको कुछ ऐसे टिप्स बता रहे हैं, जिन्हें फॉलो कर के आप बिना पैसे खर्च किए ही डार्क सर्कल्स से राहत पा सकती हैं।

आलू का रस – डार्क सर्कल्स पर आलू का रस जादू की तरह काम करता है। डार्क सर्कल्स से छुटकारा पाने के लिए आलू के रस को कॉटन बॉल्स में भिगो लें। इसके बाद आंखें बंद कर के इसे कम से कम 10 मिनट तक आंखों पर रखें। इसके बाद ताजे पानी से आंखें धो लें।

टमाटर – डार्क सर्कल्स की समस्या से छुटकारा पाने के लिए टमाटर भी बहुत लाभकारी होता है। टमाटचर डार्क सर्कल्स को दूर कर के त्वचा को कोमल बनाता है। इसके लिए एक चम्मच टमाटर के रस में कुछ बूंदें नींबू के रस की मिलकर उसे आंखों के नीचे काले घेरे पर लगाएं। 10 मिनट के बाद चेहरा धो लें। ऐसा दिन में कम से कम 2 बार करें।

टी बैग – आप टी बैग का इस्तेमाल कर के भी डार्क सर्कल्स की समस्या से छुटकारा पा सकती हैं। इसके लिए ग्रीन टी बैग को पानी में भिगोकर फ्रिज में रख दें। ठंडा होने पर टी बैग को आंखें बंद कर के आंखों के ऊपर रख लें। रोजाना ऐसा करने से आंखों के काले घेरों से जल्दी राहत मिलेगी।

संतरे का रस – संतरे के रस में कुछ बूंदें ग्लिसरीन की मिलाकर डार्क सर्कल्स पर लगाएं। इससे डार्क सर्कल्स दूर होने के साथ त्वचा में चमक भी आएगी।

खीरा – ज्यादातर लोगों ने डार्क सर्कल्स की समस्या से राहत पाने के लिए खीरे का इस्तेमाल जरूर किया होगा। डार्क सर्कल्स को दूर करने में खीरे को गोल आकार में काटकर उसे 30 मिनट के लिए फ्रिज में रख दें। इसके बाद खीरे के टुकड़ों को 10 मिनट के लिए आंखों पर रखें। डार्क सर्कल्स की समस्या जल्दी खत्म हो जाएगी।

सबसे लोकप्रिय

लैंगिक संवेदनशीलता और समाज

आधुनिक समाज में महिला उत्थान लिए उसका आर्थिक सशक्तीकरण जरूरी है। आज सामाजिक उतरदायित्व ,घरेलू रख-रखाव और उत्पादक कार्यों में माहिलाओं की...

दिशा ने रातों-रात की यूजर्स की बोलती बंद

मुंबई (ईएमएस)। बॉलीवुड एक्ट्रेस दिशा पटानी की तस्वीरों पर यूजर्स ने उन्हें अपनी स्टाइलिस्ट चेंज करने की नसीहत दे दी थी। लोगों...

ऑनलाइन शतरंज ओलंपियाड में भारत और रूस बने संयुक्त विजेता

नई दिल्ली (एजेंसी)। इंटरनेट और सर्वर की खराबी के कारण भारत और रुस को ऑनलाइन विश्व शतरंज ओलंपियाड का संयुक्त विजेता घोषित...

12वीं के बाद कर सकते हैं यह कोर्स

बारहवीं के परिणाम घोषित हो गये हैं। अब छात्रों की नजर भविष्य पर है। जो छात्र कला क्षेत्र के हैं उनके लिए...

पढ़ने का शौक है तो लाइब्रेरी साइंस लें

आम तौर पर माना जाता है कि एक लाइब्रेरियन का काम सिर्फ किताबों की सही तरह से व्यवस्था करना है पर यह...

प्रतीकों की अभिव्यक्ति कोहबर कला

लोक में लोकाचार का महत्त्वपूर्ण स्थान होता है। लोकाचार किसी भी पर्व ,पूजा ,संस्कार को जीवंत व रोचक बनाते है। विशेषकर विवाह...

हाल का

गुरु के संसर्ग में ही निखरता है आत्म-प्रकाश

गुरु पूर्णिमा अवसर है हर शिष्य के लिए आत्म-दर्शन का। गूगल का जमाना है। प्रश्नों से अधिक उत्तर हैं। इसलिए कई प्रबुद्ध...

आषाढ़ पूर्णिमा को हीं गुरु पूर्णिमा क्यों मनाया जाता है

गुरुर्ब्रह्मा, गुरुर्विष्णु गुरुर्देवो महेश्वर:।गुरुर्साक्षात् परब्रह्म तस्मै श्री गुरुवे नम:।। अर्थात गुरु ब्रह्मा, विष्णु और महेश है। गुरु तो परम...